No comments yet

मानव तस्करी रोकने को पुलिस की विशेष यूनिट

PUBLISHED IN AMAR UJALAFF-India-Selection-1-2-of-14

बच्चों के लापता होने में मानव तस्करी को अहम मान रही यूपी पुलिस अब एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट का गठन कर रही है। इसके जरिए मानव तस्करी पर लगाम लगाई जाएगी। लापता लोगों का आंकड़ा तैयार करने के लिए प्रशासन की ओर से ‘रेडी रिकनर’ बनाया जा रहा है। इससे मानव तस्करी रोकने के साथ बिछुड़े हुए बच्चों और महिलाओं को अपनों से मिलाने में मदद मिलेगी।

एक साल पहले यूपी के गाजियाबाद जिले से शुरू हुए ऑपरेशन स्माइल ने सैकड़ों खोए बच्चों को उनके परिवारीजनों से मिलाने में मदद की लेकिन अभी भी बहुत से बच्चे अपनों से जुदा हैं। इसके अलावा लंबे समय से महिलाओं के लापता होने, बालिकाओं का शारीरिक शोषण आदि की शिकायत पुलिस को मिलती रहती हैं। अभी तक इन मामलों को रोकने के लिए पुलिस थाना स्तर पर ही प्रयास करती थी।

मामला हाईलाइट होने पर विशेष टीम गठित कर कार्रवाई कराई गई लेकिन अब इसके लिए संगठित प्रयास हो रहे हैं। नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो से मिले लापता बच्चों, महिलाओं और बालिकाओं के शारीरिक शोषण के आंकड़ों को देखने के बाद प्रदेश सरकार ने इसके पीछे मानव तस्करी अहम वजह मानी। मुख्यमंत्री ने इस दिशा में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से शक्ति वाहिनी एनजीओ के साथ मिलकर लैंगिक अपराध रोकने के लिए ‘रेडी रिकनर (आंकड़े तैयार करने में मदद करने वाली विशेष प्रकार की सारिणी)’ तैयार करने को कहा है। इसे लेकर मथुरा पुलिस एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट का गठन कर रही है।

15 को आगरा में वर्कशॉप
मानव तस्करी रोकने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों में के संदर्भ में 15 जुलाई को आगरा में कार्यशाला होगी। इसमें महिलाओं की खरीद फरोख्त, बच्चे गुम होना, नेपाल और अन्य प्रांतों से बच्चों को लाकर मजदूरी कराना, अनैतिक देह व्यापार आदि को रोकने की जिम्मेदारी दी जाएगी। कार्यशाला में आगरा जोन के सभी जनपदों के सीओ, एसओ, जिला प्रोबेशन अधिकारी, आईपीसीएस के अधिकारी, बाल संरक्षण अधिकारी, महिला एवं बाल विकास, यूनिसेफ, चाइल्ड लाइन के क्षेत्रीय प्रतिनिधि, डीजीसी क्रिमिनल, एचटीयू, जेजेपीयू के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। आईजी आगरा डीसी मिश्र ने इसमें पुलिस अधिकारियों को विशेष तौर पर शामिल होने का आदेश दिया है

मानव तस्करी रोकने के लिए पूरे प्रदेश में पुलिस काम कर रही है। मथुरा में एसपी क्राइम इसके नोडल अफसर बनाए हैं। 15 को आगरा में वर्कशॉप होगी। इसके लिए ऐंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट का गठन किया जा रहा है।

डा. राकेश सिंह
एसएसपी, मथुरा

Post a comment

%d bloggers like this: